जम्मू एवं कश्मीर: के पुलवामा-अनंतनाग में दो आतंकी हमलों में दो जवान शहीद हो गए

श्रीनगर : जम्मू एवं कश्मीर के पुलवामा जिले को कोर्ट परिसर में तौनात पुलिसकर्मियों पर मंगलवार सुबह आतंकियों ने हमला कर दिया, इस दौरान आतंकियों से लड़ते हुए दो जवान शहीद हो गए।  जबकि10 सीआरपीएफ जवान और एक नागरिक घायल हो गए.  जानकारी के अनुसार आतंकी जवानों की सर्विस राइफल भी लेकर फरार हो गए।

पुलवामा में आतंकियों ने कोर्ट कॉम्पलेक्स में तैनात पुलिसकर्मी को निशाना बनाते हुए हमला किया. पुलिस प्रवक्ता ने कहा कि आतंकवादियों ने पुलवामा जिला अदालत परिसर में पुलिस पिकेट पर आज तड़के फायरिंग की. उन्होंने कहा कि पुलिसकर्मियों ने भी जवाबी फायरिंग की इस दौरान गोली लगने से दो पुलिसकर्मियों की जान चली गई.

घटना के बाद इलाके की घेराबंदी कर सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है। यह हमला मंगलवार को मुस्लिमों की पाक रात 'शब-ए-कद्र' में उस समय हुआ जब नमाज अदा की जा रही थी। वहीं जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग जिले में आतंकियों ने सीआरपीएफ के एक दल पर ग्रेनेड हमला कर दिया, 

पुलिस प्रवक्ता के अनुसार, आतंकियों ने अनंतनाग में जंगलाट मंडी में सीआरपीएफ के एक दल पर एक ग्रेनेड हमला किया है, हमले में घायल जवानों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उनकी हालत स्थिर है। आपको बता दें कि पिछले दिनों यहां सेना को बड़ी सफलता मिली थी, जब घुसपैठ के दौरान जवानों ने छह आतंकियों को मार गिराया था।

सुरक्षाबलों के अनुसार पुलवामा कोर्ट परिसर की सुरक्षा के लिए मंगलवार रात्रि कांस्‍टेबल रसूल, गुलाम हसन और मंजूर अहमद की तैनाती की गई थी. मंगलवार रात शबे-कद्र की रात होने की वजह से पुलवामा की सड़कों में लगातार चहल पहल बनी हुई थी. तभी  बरपोरा करीमाबाद स्थित गवर्मेंट डिग्री कॉलेज की तरफ से आए आतंकियों ने पुलवामा कोर्ट परिसर के गार्ड पोस्‍ट पर अंधाधुंध गोलियों बरसाना शुरू कर दिया. आतंकियों की गोलियों का तीनों पुलिसकर्मियों ने कड़ा जवाब भी दिया. लंबे समय तक चली इस गोलीबारी में दो पुलिसकर्मी मौके पर शहीद हो गए. शहीद हुए पुलिसकर्मियों की पहचान कांस्‍टेबल रसूल और कांस्‍टेबल गुलाम हसन के तौर पर हुई है.वहीं इस आतंकी हमले में तीसरा पुलिस कर्मी मंजूर अहमद गंभीर रूप से जख्‍मी हो गया.

सुबह करीब तीन बजे आतंकियों ने अनंतनाग के जंगलात मंडी में सीआरपीएफ जवानों को निशाना बनाया. इस हमले में 10 सीआरपीएफ जवान और एक नागरिक घायल हो गए. आतंकी हमले के बाद सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके को घेर लिया है और हमलावरों की तलाश के लिए सर्च ऑपरेशन जारी है.

ध्यान रहे की केंद्र सरकार ने रमजान के महीने में आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन नहीं चलाने का फैसला किया था. जिसके बाद सुरक्षा बलों जम्मू कश्मीर में आतंकवादियों के खिलाफ अभियान को रोक दिया है.

पुलवामा कोर्ट परिसर में शहीद हुए दोनों पुलिस कर्मियों का पार्थिव शरीर बुधवार सुबह डिस्ट्रिक पुलिस लाइन लाया गया. जहां J&K पुलिस के आईजी सहित अन्‍य वरिष्‍ठ अधिकारियों ने दोनों शहीदों को श्रद्धांजलि दी गई. इस दौरान J&K पुलिस के आईजी ने कहा कि दोनों जवानों ने देश के लिए सर्वोच्‍च बलिदान दिया है. मुश्किल की इस घड़ी में J&K पुलिस दोनों शहीदों के परिवार के साथ है.