कोर्ट ने लालू यादव को दी राहत, 6 सप्ताह की अंतरिम जमानत पर बाहर

रांचीः बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री एवं आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को झारखंड हाईकोर्ट के आदेश पर बुधावार (16 मई) को रांची की दोनों विशेष सीबीआई अदालतों ने इलाज के लिए 6 सप्ताह की अंतरिम जमानत पर रिहा कर दिया है. साथ ही जमानत मिलने के बाद अब लालू यादव पटना के लिए रवाना हो चुके है. इससे पहले हाईकोर्ट से लालू के इलाज के लिए मिला अंतरिम जमानत का आदेश सीबीआई की विशेष अदालतों तक पहुंच गया और दोनों विशेष अदालतों ने उनकी जमानतें मंजूर कर लीं.

आपको बता दे बुधवार को हाई कोर्ट से लालू के इलाज के लिए अंतरिम जमानत का आदेश सीबीआई की विशेष अदालतों तक पहुंच और दोनों विशेष अदालतों ने उनकी जमानतें मंजूर कर लीं. वही लालू के वकील प्रभात कुमार बुधवार को विशेष सीबीआई अदालत पहुंचे जहां चारा घोटाले से जुड़े तीनों मामलों में अलग-अलग बेल बॉन्ड भरने की प्रक्रिया पूरी की गई. आरजेडी अध्यक्ष के खिलाफ दो मामलों में विशेष सीबीआई अदालत के न्यायाधीश शिवपाल सिंह ने और एक मामले में आरआर प्रसाद की अदालत ने सजा सुनाई थी. बता दे इन तीनों ही मामलों में उन्हें जमानतदारों के साथ बेल बॉन्ड भरना पड़ा. 

लालू यादव पर इन इन चीजों में लगी बंदिशें
बता दे 6 सप्ताह जमानत मिलने के बाद लालू यादव पर अदालतों ने कुछ बंदिशें भी लगाई है जैसे-मीडिया से बात न करना, राजनीतिक कार्यक्रमों में शामिल न होना भी शामिल है. इसके अलावा लालू को अपने इलाज का विवरण भी अदालत को देना होगा. हाईकोर्ट के आदेशानुसार लालू को 16 मई से 42 दिन बाद अपनी सजा पूरी करने के लिए जेल वापस लौटना है. इसके अलावा बिरसा मुंडा जेल से आज शाम को किसी भी समय लालू वहां से रिहा हो जाएंगे।

इससे पहले लालू यादव को बेटे तेजप्रताप यादव की शादी में शामिल होने के लिए 3 दिन का पैरोल मिला था. कोर्ट ने विचार विमर्श के बाद लालू को 3 दिन के पैरोल के लिए मंजूर दी गई थी. वही शादी में शामिल होने के बाद न्हें न्यायिक हिरासत में बिरसा मुंडा जेल भेज दिया था. बता दे, बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद चारा घोटाला के मामले को लेकर जेल में सजा काट रहे है.