पश्चिम बंगाल में पंचायत चुनाव: तृणमूल कांग्रेस ने कहां - पीएम की टिप्पणी हताशा का परिचायक

 नई दिल्ली: हाल ही पश्चिम बंगाल में पंचायत चुनाव के लिए वोट डाले जा रहे थे। वही आज इस चुनाव ने हिंसा का रूप ले लिया था। पश्चिम बंगाल में आज वोटिंग शुरू होते ही कई इलाकों से बम धमाके, मारपीट, मतदान पेटी जलाने, बैलेट पेपर फेंकने और फायरिंग जैसी हिंसक घटनाओं की खबरें आती रही थी। मंगलवार को तृणमूल कांग्रेस ने कहा कि पश्चिम बंगाल में हुए पंचायत चुनाव पर ‘ अनुचित टिप्पणियों ’ के लिये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए  मोदी की टिप्पणी हताशा का परिचायक है क्योंकि भाजपा कर्नाटक में बहुमत हासिल नहीं कर पाई है।

जानकारी के मुताबिक, इस मामले को लेकर तृणमूल कांग्रेस के महासचिव पार्थ चटर्जी ने बताया की, ये बात लरूप से हताशा का परिचायक है, ऐसे इस लकिये क्यों की, उनकी पार्टी कर्नाटक चुनाव में बहुमत के आंकड़े तक पहुंचने में सफल नहीं रही है। हमसे कुछ पूछने से पहले  प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को अपनी पार्टी की राजशून्यता  के बारे में जवाब देना चाहिए जो उसने पूरे देश में फैला रखी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पंचायत चुनाव के बीच पश्चिम बंगाल में भड़की हिंसा को लेकर तृणमूल कांग्रेस सरकार की टिप्पणी किया था। साथ ही साथ  उन्होंने ने बताया की, संकीर्ण राजनीतिक हितों के लिए लोकतंत्र की ‘ हत्या ’ कर दी गई।

आप को बताते चले की, पश्चिम बंगाल में पंचायत चुनाव के लिए वोट डाले जा रहे थे। वही इस चुनाव ने हिंसा का रूप ले लिया था। पश्चिम बंगाल में वोटिंग शुरू होते ही कई इलाकों से बम धमाके, मारपीट, मतदान पेटी जलाने, बैलेट पेपर फेंकने और फायरिंग जैसी हिंसक घटनाओं की खबरें आती रही थी। वही पहले खबर आई थी कि इस हिंसा के कारण 5 लोगों की मौत हो गई थी। हालांकि अब ये आकड़ा बढ़कर 9 हो गया था।