पत्रकार राजदेव रंजन हत्या मामले में लालू यादव के बेटे तेज प्रताप यादव को मिली राहत, सुप्रीम कोर्ट ने बंद किया केस

नई दिल्ली: रांची के होटवार जेल में बंद राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बड़े पुत्र व पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव को मिली बड़ी राहत. बता दे तेज प्रताप यादव को राजदेव रंजन हत्याकांड मामले में सीबीआई से क्लीन चिट मिलने के बाद सुप्रीम कोर्ट ने तेज प्रताप यादव के खिलाफ याचिका को सुप्रीम कोर्ट ने बंद कर दिया है. सुप्रीम कोर्ट पत्रकार राजदेव रंजन हत्याकांड के मामले में कहा है की, तेजप्रताप यादव की कोई भूमिका नहीं है. साथ ही इस मामले में कोर्ट ने कहा है की तेजप्रताप के खिफ कोई भी सबूत नहीं है जो की उनके खिलाफ हो. 

आपको बता दे सुप्रीम कोर्ट ने साफ कर दिया है कि अब तेज प्रताप यादव का आरोपी मोहम्मद कैफ और जावेद के साथ फोटो पर किसी तरह की कार्यवाई नहीं होगी. इसके अलावा सीबीआई की क्लीन चीट के बाद सुप्रीम कोर्ट ने याचिका की सुनवाई बंद कर दी. साथ ही वहीं सुप्रीम कोर्ट का कहना है की, अगर बाद में कोई आपराधिक भूमिका सामने आती है तो याचिकाकर्ता हाईकोर्ट जा सकता है

पत्रकार राजदेव रंजन की  की पत्नी आशा यादव किया था  मुकदमा दर्ज............. 

बता दे सिवान में फल मंडी के समीप पत्रकार राजदेव रंजन की हत्या 13 मई, 2016 को कर दी गई थी. जिसके बाद पत्रकार राजदेव रंजन की पत्नी आशा यादव के बयान के आधार पर सिवान पुलिस ने हत्या का यह मुकदमा दर्ज किया था. जिसके में बिहार के पूर्व बाहुबली नेता शहाबुद्दीन और स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप सिंह के ख़िलाफ हत्या के आरोपियों मोहम्मद कैफ और मोहम्मद जावेद की मदद और शरण देने के मामले में एफआईआर दर्ज कर जांच की मांग की थी. इस मामले में सीबीआइ ने कुल छह लोगों को मुख्य अभियुक्त बनाया था.