छत्तीसगढ़: सुकमा में बड़ा नक्सलियों का लैंडमाइन ब्लास्ट, CRPF के 9 जवान शहीद और 25 घायल

छत्तीसगढ़: सुकमा जिले में नक्सली हमला हुआ है। इस खतरनाक हमले में 9 जवान शहीद हो गए है। खबर के मुताबिक, ये नक्सली हमला सुकमा जिले के किस्टाराम इलाके में हुआ है। इस घटना में नक्सवादियों ने बारूदी सुरंग में विस्फोट कर सेना के एंटी लैंडमाइन व्हीकल को उड़ा दिया है। इस विस्‍फोट में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के 9 जवान शहीद हो गए है और छह जवान घायल हो गए हैं। खबर के मुताबिक आप को बता दे, इस घटना के दौरान नक्सलियों और सुरक्षाकर्मियों के बीच मुठभेड़ में 6 जवान घायल हुए हैं।

वहीं अब 4 जवानों की हालत बेहद गंभीर बताई जा रही है। हैरान करने वाली बात तो ये है की, अभी एक दिन पहले यानी कल ही मुख्यमंत्री रमन सिंह ने प्रभावित इलाकों का मोटरसाइकिल से दौरा किया था। घटना पर गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने दुख जताया है, वहीं सीआरपीएफ के डीजी से भी बात की है। केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि सुकमा हमले में शहीद हुए जवानों के परिवारों के लिए मैं सहानुभूति व्यक्त करता हूं। मैं घायल जवानों के तेजी से ठीक होने की प्रार्थना करता हूं।

हाल ही में 29 नक्सलियों ने किया है सरेंडर

इस हमले से पहले 8 मार्च को सुकमा के भेज्जी थाना क्षेत्र के एलारमडुगु और वीरभट्टी जैसे गांवों से आए 29 नक्सलियों ने आत्मसमर्पण किया था. इनमें 11 महिलाएं भी शामिल थीं. ये वही गांव हैं जहां 18 फरवरी को मुठभेड़ के दौरान  20 नक्सलियों को मार गिराया गया था। इस घटना में दो जवान शहीद भी हुए थे। इन नक्सलियों में कई खूंखार नक्सली भी शामिल हैं। आप को बता दे, पिछले काफी समय से नक्सिलों और सेना के बीच यहां स्थिति तनावपूर्ण चल रही है। इसके लिए सेना द्वारा विशेष टास्क फोर्स भी गठित की गई है। ये लोग कई प्रकार की टीम बनाकर काम कर रहे थे।

पिछले साल भी नक्सलियों ने किया था बड़ा हमला

आपको बता दें कि लगभग ठीक एक साल पहले 11 मार्च 2017 को ही नक्सलियों ने बड़ा हमला किया था। उस दौरान बस्तर में सीआरपीएफ की एक पार्टी पर हमला किया गया था, इसमें 11 जवान शहीद हुए थे। जिनको मारकर नक्सलियों ने जवानों के मोबाइल और हथियार भी लूट लिए थे। आपको बता दें कि पिछले साल सुकमा इलाके में ही सबसे बड़ा नक्सली हमला हुआ था। इसमें करीब 25 जवान शहीद हुए थे। ये हमला 24 अप्रैल, 2017 को सुबह के समय ही किया गया था।