24 मार्च तक न्यायिक हिरासत में रहेंगे कार्ति चितम्बरम : INX मीडिया केस

नई दिल्ली - कार्ति चितम्बरम के न्यायायिक हिरासत को लेकर निचली अदालत ने सीबीआई की याचिका मंजूर करते हुए अपना आदेश जारी करते हुए 24 मार्च तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया.अदालत ने कार्ति की तिहाड़ जेल में एक अलग कक्ष मांगे जाने और उनकी जमानत याचिका पर सुनवाई करते हुए यह आदेश दिया. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम के बेटे कार्ति को उनके तीन दिन की पुलिस हिरासत खत्म होने के बाद विशेष न्यायाधीश सुनिला राणा के समक्ष पेश किया गया था.
 
कार्ति चितम्बरम को जब विदेश से आ रहे थे तो उसे समय चेन्नई हवाई अड्डा से 24 फ़रवरी को गिरफ्तार कर लिया था।  गिरफ्तारी के बा 12 दिन तक सीबीआई की हिरासत में थे. सीबीआई ने कार्ति के लिए 15 दिन की न्यायिक हिरासत मांगी थी, इसके बदले कार्ति ने अदालत से अपनी याचिका पर तय तारीख 15 मार्च के बदले आज 12 मार्च  ही सुनवाई करने की मांग की थी. कार्ति चिदंबरम के पिता पी. चिदंबरम भी अदालत कक्ष में उपस्थित थे.

कार्ति की तरफ से पेश हुए वरिष्ठ वकील दया कृष्णन ने न्यायिक हिरासत में भेजे जाने की स्थिति में अदालत से जमानत याचिका पर सोमवार को ही सुनवाई करने की मांग की थी. उन्होंने एक और याचिका देकर कार्ति को न्यायिक हिरासत में भेजे जाने की स्थिति में जेल के अंदर अलग कोठरी की मांग करते हुए कहा कि‘‘वह पूर्व केंद्रीय गृह मंत्री के बेटे हैं और उनके( पी. चिदंबरम) के कार्यकाल के दौरान कई आतंकवादियों पर अभियोजन चला था और कार्ति के लिए स्पष्ट रूप से खतरा है.’’