सुंजवां हमले में घायल मेजर अभिजीत को आया होश, पूछा हमला करने वाले आतंकवादियों का क्‍या हुआ?

नई दिल्ली:  जम्मू कश्मीर में पाक के आतंकवादियों से लड़ते हुए भारत के 10 जवान शहीद हो चुके है, वही जम्मू कश्मीर में सुंजवां आर्मी कैंप पर हमले के दौरान आतंकवादियों से लड़ते वक्त घायल हुए मेजर अभिजीत को होश आ गया है. ANI  के खबरों के मुताबिक उधमपुर स्थित सेना के अस्पताल में भर्ती मेजर अभिजीत ने होश में आते ही पूछा, 'आतंकियों का क्या हुआ? बता दे इस हमले में मेजर अभिजीत काफी बुरी तरह से घायल हों गए थे. उनकी हालत काफी गंभीर थी  वो 3-4 दिन तक बेहोशी के हालत में अस्पताल में भर्ती थे, सर्जरी के बाद होश में आते ही देश के बहादुर जवान ने सबसे पहले पूछा आतंकियों का क्या हुआ?  इस आतंकी हमले में देश के  6 जवान शहीद हो गए है, साथ ही इस हमले को अंजाम देने वाले सभी आतंकियों को सेना के जवानों ने मार  गिराया है, 

आपको बता दे इस पूरे हमले को लेकर रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण का कहना है कि इस हमले का पूरा जवाब पाक को दिया जाएगा, देश का यह बहादुर जवान अपने देश के  लिए लड़ते हुए घायल हो गया था. और सर्जरी के बाद होश में आते ही सबसे पहला सवाल यही पूछा कि हमला करने वाले आतंकवादियों का क्‍या हुआ? भारत के इस जवान अभिजीत ने बिना डरे आतंकवादियों का मुँह तोड़ जवाब दिया है. साथ ही डॉक्टरों का कहना है की अब वह खतरे से बाहर हैं और उनके हालत में सुधार भी है. जम्मू कश्मीर स्थित सुंजवां सैन्य शिविर में मुठभेड़  में मृतक संख्या बढ़कर 10 हो गई है, इस मुठभेड़ में सेना के छह जवान शहीद हुए हैं और जैश ए मोहम्मद के तीन आतंकवादी मारे गए हैं. 

बता दे पाकिस्तान के आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने 10 फरवरी को  सुंजवां आर्मी कैंप पर हमला कर दिया था. जिसमे भारतीय सेना के पांच जवान शहीद हो गए थे. हमले में कई लोग घायल हो गए थे, और एक स्थानीय नागरिक की मौत हो गई थी. इस हमले के बाद हमारे देश के भारतीय सेना ने भी मुंह तोड़ जवाब दिया जिसमे चार आतंकियों को मर गिराया था.  इस पूरे मामले में जम्मू में सेना के जनसंपर्क अधिकारी लेफ्टिनेंट कर्नल देवेंद्र आनंद ने बताया की रविवार रात शिविर में खोजबीन अभियान के दौरान सेना के एक जवान का शव मिला, भारी हथियारों से लैस हमलावरों के एक समूह ने 10 फरवरी को जम्मू कश्मीर लाइट इन्फेंट्री की 36 ब्रिगेड के शिविर पर हमला किया था जिसमें पांच जवानों समेत छह लोगों की मौत हो गए.

उन्होंने आगे बताया की, मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती कश्मीर घाटी के चार शहीद जवानों को श्रद्धांजलि देने के लिए हवाईअड्डे पर आयोजित कार्यक्रम में शामिल हो रही हैं, उन्होंने बताया कि श्रद्धांजलि देने के बाद चारों कश्मीरी जवानों और आम नागरिक के शवों को श्रीनगर लाया जाएगा, इसके बाद उन्हें अंतिम संस्कार के लिए उनके जन्म स्थलों पर ले जाया जाएगा. इस घटना के बाद गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने जम्‍मू-कश्‍मीर के डीजीपी से बात की, जिसके बाद डीजीपी ने उन्‍हें आतंकी हमले की पूरी जानकारी दी.  इस घटना पर जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने भी शनिवार ट्वीट कर सुंजवां हमले पर प्रतिक्रिया दी है.