अहमदाबाद: वैलेंटाइन डे का विरोध करते हुए बजरंग दल ने लगाए 'लव जिहाद' के पोस्टर

अहमदाबादः वैलेंटाइन डे मतलब प्यार दिन, प्रमियों का त्यौहार लेकिन इस दिन को लेकर प्रेमी जोड़ो में खौफ पैदा हो गई है, अब इस दिन के दुश्मनों ने लड़कियो को दी है हिदायत, बता दे, वैलेंटाइन डे के खिलाफ बजरंग दल ने विरोध करते हुए अहमदाबाद की सड़कों पर पोस्टर लगाया है. साथ ही इस पोस्टर के जरिए बजंरग दल ने प्रमियों के इस त्यौहार को 'लव जिहाद' का नाम दिया है. बजंरग दल ने इस पोस्टर में एक महिला की तस्वीर लगी है जिसका चेहरा आधा बुर्के में है और आधा खुला है. पोस्टर में लिखा है. 'हिंदू लड़कियां सावधान, 'Say no to valentines day'  साथ ही इस पोस्टर में नीचे बजरंग दल कर्णावती लिखा है.

आपको बता दे वेलेंटाइन डे का विरोध करते हुए ये पोस्टर ज्यादातर शहर के कॉलेज के बाहर लगाए गए हैं. साथ ही बजरंग दल का कहना है कि इन पोस्टरों के माध्यम से वह युवाओं को दो संदेश एक साथ देने की कोशिश कर रहे हैं. पहला- युवा लव-जिहाद को खतरों से रूबरू हों और दूसरा यह कि वैलेंटाइन डे का जश्न भारतीय संस्कृति के खिलाफ हैं. इस पर डीएनए से बात करते हुए बजरंग दल के अहमदाबाद के अध्यक्ष ज्वलित मेहता ने कहा- ”मुझे यह बात साफ करने दें कि हम प्यार के खिलाफ नहीं हैं. हम वैलेंटाइन डे के मौके पर इसकी आड़ में प्यार के नाम पर किए जाने वाले अश्लील प्रदर्शन के खिलाफ हैं.

वेलेंटाइन डे का विरोध करते हुए मेहता ने कहा- ”क्या आपने वे कार्ड देखे हैं जो वैलेंटाइन डे पर दिए जाते हैं? उनमें प्रेमी जोड़े किस करते हुए दिखते हैं. क्या यह हमारी संस्कृति हैं? क्या हम इसी तरह प्यार का जश्न मनाते हैं?” उन्होंने ने आगे कहा- ”हम पश्चिमी सभ्यता की उन बातों के खिलाफ नहीं है जो हमारी मददगार हैं. क्रिकेट हमारा खेल है जिसे अंग्रेज लाए, लेकिन हमें उसके साथ कोई दिक्कत नहीं हैं. लेकिन वैलेंटाइन डे का प्यार से कुछ भी लेना देना नहीं है, बल्कि यह भावनाओं का अश्लील प्रदर्शन करता है.” इसके अलावा बजरंग दल ने कॉलेजों में छात्रों वैलेंटाइन डे पर सेमीनार करने की भी बात कही उन्हीने कहा कि ”हमारे सदस्य कॉलेज जाते हैं और छात्रों से समूह में चर्चा करते हैं. शुरू में करीब 80 फीसदी छात्रों ने हमारे विचारों से समर्थन जताया है.” हालांकि उन्होंने यह भी स्वीकार किया कि जरूरी नहीं कि सभी छात्र वैलेंटाइन डे का विरोध करेगें.