भारतीय रिसर्चर ने समलैंगिक पार्टनर को बचाने के लिए की आत्महत्या, सुसाइड नोट बरामद

एक 27 साल के नैनोटेक्नोलॉजी रिसर्चर ने राजाभोज प्रतिमा के पास बड़े तालाब में कूदकर अपनी जान दे दी.ये रिसर्चर भोपाल के साकेत नगर क्षेत्र में रहने वाले है. नैनोटेक्नोलॉजी रिसर्चर पिछले चार दिनों से घर से गायब था.ये रिसर्चर ने अपनी बांह पर नाम, पता और मोबाइल नंबर लिखा था.रिसर्चर ने ये सब इस लिए किया क्यों की पुलिस उसके शरीर को परिवार वालों तक पहुंचा सके. 27 साल के नैनोटेक्नोलॉजी रिसर्चर ने 20 पन्नों का एक सुसाइड नोट लिखा था.आत्महत्या करने वाले रिसर्चर का नाम नीलोत्पल सरकार है.आत्महत्या करने वाले रिसर्चर नीलोत्पल ने ये सब इस वजह से किया ताकि वह अपने समलैंगिक (गे) पार्टनर को मरने से बचा सके.पुलिस को रविवार सुबह उसकी लाश तालाब में मिली थी.उसके जानने वालों ने बताया कि नीलोत्पल मां काली को बहुत ज्यादा मानता था.

जानकरी के मुताबिक, सुसाइड नोट में नीलोत्पल ने लिखा था कि अगर आप डार्क मैटर को जानना चाहते हैं तो शिव को समझो. इतना ही नहीं उसने लिखा है की अगर आप ब्लैक होल को जानना चाहते तो काली को समझो और अगर आप बिग बैंग को जानना चाहते हो तो ओम की भाषा समझो.सहायक उपनिरीक्षक केसी साहू ने कहा कि घर छोड़ने से पहले रिसर्चर ने सुबह 10:04 बजे फेसबुक पर फाइनल नोट नाम से पांच मिनट का एक वीडियो पोस्ट किया था. इस वीडियो में उसकी दीवारों पर लगे नोट दिख रहे थे.नोट को परिवार और दोस्तों ने देखने के बाद उसे फोन किया लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ. नीलोत्पल की मां ने फेसबुक पर उससे घर वापस आने की निवेदन भी किया था. क्योंकि नीलोत्पल की मां ने उसके पिता की हालत खराब होने की जानकारी दी थी.

रिपोर्ट के मुताबिक, वीडियो में नीलोत्पल ने कहा- साल 2016 की दिवाली यानी 30 अक्टूबर 2016 को मैंने बहुत सुंदर सपना देखा.देवी काली मेरे सपने में आईं. उन्होंने कहा कि एक साल के अंदर तुझे तेरा जीवनसाथी मिल जाएगा, मगर इस जीवन में उससे शादी नहीं हो पाएगी बल्कि अगले जन्म में होगी. अगर तूने अपने प्रेम का इजहार किया तो भूचाल आ जाएगा. नोट में सरकार ने कामाख्या देवी के दर्शन करने और उनसे अपने पार्टनर को कोई नुकसान ना पहुंचाने की प्रार्थना की है.घर में किसी को भी नीलोत्पल के यौन इच्छाओं के बारे में पता नहीं था.रिपोर्ट के मुताबिक, वह एक अच्छे परिवार से था. नीलोत्पल के पिता निर्मलेन्दु सरकार असिस्टेंट जनरल मैनेजर हैं और उसकी मां पेशे से डॉक्टर हैं. उसकी बहन एमिटी यूनिवर्सिटी से स्नातक की पढ़ाई कर रही है.नीलोत्पल अपने परिवार वालो से दूर साकेत नगर में वह किराए के मकान में रहता था. इस सुसाइड नोट में उसने इस जन्म में साथ देने वाले सभी लोगों का धन्यवाद दिया है.