एयर इंडिया की महिला पायलट की बहादुरी से बची 261 यात्रियों की जान

नई दिल्ली: विस्तारा एयरलाइंस और एयर इंडिया के विमान आपस में टकराने के मामले में नई जानकारी सामने आई है. बता दे जिस समय यह घटना हुई उस समय दोनों ही प्लेन को महिला पायलट उड़ा रही थीं. एयर इंडिया के विमान को पायलट अनुपमा कोहली उड़ा रही थीं तो वही दूसरी ओर विस्तारा में पायलट के टायलेट ब्रेक पर जाने के कारण उसकी महिला को पायलट फ्लाइट को कंट्रोल कर रही थीं. दोनों प्लेन में करीब 261 यात्री सवार थे. आई खबरों के मुताबिक, एयर इंडिया एयरबस A-319 की फ्लाइट नंबर AI- 631, 7 फरवरी को मुंबई से भोपाल की तरफ आते हुए 27 हजार फीट की ऊंचाई पर उड़ रही थी. दूसरी ओर विस्तारा की फ्लाइट UK-997 दिल्ली से पुणे की ओर जा रही थी.

खबरों का कहना है की , दोनों प्लेन एक-दूसरे से बस कुछ ही सेकंड की दूरी पर थे. विस्तारा की फ्लाइट 29 हजार की हाईट से नीचे आते हुए 27,100 फीट की ऊंचाई पर आ रही थी. इस दौरान उसी ऊंचाई पर सामने की ओर से एयर इंडिया का विमान आ रहा था. इस बिच निर्देशों को लेकर विस्तारा और एटीसी के बीच कुछ गलतफहमी हो गई थी. उस समय विस्तारा को महिला को-पायलट उड़ा रही थी तो वही दूसरी ओर एयर इंडिया को उस समय कैप्टन अनुपमा कोहली उड़ा रही थीं. निर्देशों को देने के दौरान इस बात को लेकर भ्रम हो गया होगा कि एल्टीट्यूड को लेकर किस महिला पायलट को निर्देश दिए जा रहे हैं. इस बात की जांच की जा रही है.

इस बीच 20 साल का अनुभव रखने वाली सीनियर कमांडर कैप्टन कोहली के पास एयर इंडिया की कमान थी, अनुपमा कोहली ने इस दौरान विस्तारा के प्लेन को अपने बाएं ओर से पास आते देखा, करीब आते हुए विस्तारा एयरलाइन के प्लेन उनके विमान से कुछ ही दूरी पर था, इसके बाद कैप्टन कोहली के विमान में कॉकपिट में खतरे की घंटी बज गई, खतरे की घंटी बजने के बाद उन्हें आभास हो गया कि विस्तारा उनकी उड़ान के लेवल पर उड़ रहा है, जिसके बाद उन्होंने अपने प्लेन की ऊंचाई बढ़ा दी और विस्तारा को निकलने का रास्ता दे दिया. एयर इंडिया ने इस घटना के बाद  अपनी महिला पायलट कोहली की बाहदुरी की सराहना की है. साथ ही बता दे दूसरी ओर मामले में कार्रवाई करते हुए विस्तारा और एयर इंडिया को उस समय निर्देश दे रहे दो एयर ट्रैफिक कंट्रोलर को सस्पेंड कर दिया गया है.