बिहार: बाल विवाह विरोधी CM नीतीश कुमार द्वारा शुरू हुए अभियान, लोगों ने रुकवाया शादी

बिहार में बाल विवाह विरोधी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा शुरू किए अभियान का असर दिखने लगा है.बिहार में रहने वाले लोग खुद पुलिस को इसकी सूचना दे रहे हैं.ऐसे में ये एक खबर बिहार के बक्सर में सामने आया है.यहां एक  नाबालिग बच्ची की शादी लोगों ने रुकवा दी है.वहां के मौजूद लोगो ने इस बात की खबर पुलिस को दे दी. पुलिस ने भी आगे की  कार्रवाई करते हुए नाबालिग बच्ची की शादी कवा दी, हालांकि इस घटना में नाबालिग बच्ची की पिता फरार हो गया.आरोपियों के खिलाफ पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है और इस मामले की जांच शुरू कर दी है.खबर के मुताबिक, मुफसिल थाने के बक्सर के महदह गांव में काफी हलचल थी.

आप को बता दे, इस गांव में शादी होने वाली थी और गांव में बारात आने वाली थी.इस गांव में  नवाडेरा के बेचन यादव के बेटे से मुन्ना यादव की बेटी की शादी होने वाली थी.परिवार वालो ने सारा शादी का  इंतजाम कर लिया था. सजावट के साथ साथ घर में भोजन का भी तैयारी हो चूका था. लड़की के घर वाले  बारात आने का इंतजार कर रहे थे, लेकिन ऐसा  हो नहीं पाया. महदह गांव में बारात आने पहले से पुलिस वहां पहुँच गया. रिपोर्ट के मुताबिक, स्थानीय लोगों की सूचना पर पुलिस वहां पहुंची थी.जिस बच्ची की शादी हो रही है उसकी उम्र 18 साल से कम होने की सूचना पुलिस को मिल गयी है.

जानकारी के मुताबिक, उसके बाद लड़की वालों के घर पहुंच पुलिस ने पूछताछ करने लगी.पुलिस ने उम्र की प्रमाण के लिए सार्टिफिकेट मांगा.इस बीच पूछताछ कर रही पुलिस के सामने से लड़की का पिता मुन्ना यादव भाग गया.आप को बता दे, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 2 अक्टूबर 2017 को बाल विवाह  खिलाफ विशेष तौर पर अभियान चला ने में पुलिस को  आह्वान किया गया था.मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने  दहेज और बाल विवाह के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करके सबके प्रति जागरूकता जगाने की प्रयास की है.पहले तो इस मामले को लेकर कम लोग विरोध करते थे. हालांकि, अब इस इसी अभियान की वजह से लोग पुलिस को ऐसे होने वाली घटना की गुप्त सूचनाएं देने आते है.