जम्मू-कश्मीर:  विधानसभा में लगाए 'पाकिस्तान जिंदाबाद' के नारे, विधायक बोले- 'हां मैंने ऐसा किया'

नई दिल्ली: शनिवार जम्मू-कश्मीर में आतंकी हमला हुआ है, यह हमला कश्मीर के सुंजुवान मिलिट्री कैंप पर हुआ है, साथ ही इस तनाव के माहौल में विधानसभा में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे सुनाई दी, बता दे इस हमले को लेकर जम्मू-कश्मीर विधानसभा में बीजेपी विधायकों जहां एक ओर पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगा रहे थे, तो वहीं दूसरी और सदन में मौजूद नेशनल कॉन्‍फ्रेंस के विधायक अकबर लोन पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाते दिखे. इस बात को लेकर कई नेताओं ने सवाल उठाये है और अपनी नाराजगी जाहिर की. जब मीडिया ने उनसे इस ारे में सवाल किया तो उन्होंने अपने बचाव के लिए माना कि. इतना ही नहीं विधायक ने बाद में  सही ठहराया और कहा ऐसा करने पर किसी को परेशानी नहीं होनी चाहिए. विधायक अकबर लोन ने कहा, 'हां मैंने पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए. मैंने ये सदन में कहा. मुझे नहीं लगता कि इसमें किसी को भी दिक्कत होनी चाहिए'.

आपको बता दे शनिवार जम्मू-कश्मीर में आतंकी हमला हुआ है, बता दे तड़के जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादियों ने जम्मू शहर के सुंजवान में स्थित सेना के कैंप के उन हिस्सों को निशाना बनाया जहां, जवानों के परिजन रहते हैं, इस हमले में  सेना के तीन कर्मी और एक सैन्यकर्मी की बेटी घायल हो गई. बता दे आतंकवादियों ने जवानो के कैंप में घुसने के लिए ग्रेनेड फेंके और अपने हथियारों से हमला किया है. साथ ही बताया जा रहा है कि सुंजवान कैंप के रिहायशी इलाके में 3 से 5 आतंकी एक क्‍वार्टर में छिपे हुए हैं. सूत्रों का कहना है की, आतंकियों का मकसद सैनिकों को बंधक बनाना है. शनिवार तड़के जम्मू-कश्मीर के पुलिस महानिदेशक एसपी वैद्य ने बताया कि आतंकवादी सुंजवान सैन्य शिविर में पीछे की ओर बने आवासीय क्वार्टर की ओर से घुसे. अधिकारियों ने बताया कि कम से कम चार लोग इस दौरान हुई फायरिंग में घायल हुए हैं. इनमें तीन सैन्यकर्मी हैं जबकि एक सैन्यकर्मी की बेटी है. खबरों के मुताबिक इस गोलीबारी में एक शख्स की मौत हुई है.

हमले की खबर जम्मू के आईजीपी एसडी सिंह जामवाल ने दी है, उन्होंने बताया की, 'सुबह करीब 4:55 बजे संत्री ने कुछ संदिग्ध लोगों को देखा. जवानो ने उनपर जवाबी कार्रवाई की. कितने आतंकी हैं इसकी पता नहीं चल पाया है. वे किसी फैमिली क्वार्टर में छुपे हो सकते हैं. साथ ही उन्होंने बताया कि इस हमले में दो लोग घायल हुए हैं, जिसमें एक हवलदार और दूसरा उनकी बेटी है. फिलहाल ऑपरेशन जारी है.' साथ ही ये ही बताया जा रहा है कि जैश ए मोहम्मद के आतंकी सेना के सुंजुवान शिविर के पिछले हिस्से से आतंकवादी वहां दाखिल हुए. खुफिया एजेंसियों ने अफजल गुरू की बरसी पर जैश ए मोहम्मद द्वारा सुरक्षा प्रतिष्ठानों को निशाना बनाये जाने को लेकर पहले ही चेतावनी जारी की थी. अफजल गुरू को नौ फरवरी 2013 को फांसी दी गई थी. इस हमले में अब तक तीन लोगों के घायल होने की खबर आ रही है. साथ ही इस हमले में एक जूनियर कमीशन्ड अफसर और उनकी बेटी शामिल हैं. बता दे पिछले कुछ समय से नापाक के इरादे सेना के कैंप पे है, पाक के आतंकी लगातार सेना के कैंप को निशाना बनाने की कोशिश में जुटे हैं. 5 फरवरी को रात जम्मू कश्मीर में आतंकवादियों ने पुलवामा के काकापुरा में सेना के 50वीं राष्ट्रीय राइफल्स कैंप पर हमला बोल दिया था. साथ ही इस हमले में आतंकियों ने कैंप पर फायरिंग की और ग्रेनेड फेंके थे. लेकिन इस हमले में किसी को कोई नुकसान नहीं हुआ है. हमले के बाद आतंकवादी भाग निकलने में कामयाब रहे.